नई दिल्लीः दिल्ली प्रदेश साहू राठौर महासभा ने की पीड़ित परिवार की मदद की मांग

106

बिहार/नई दिल्ली। सात माह पूर्व सउदी अरब गए पिता-पुत्र को वहां एक निजी कंपनी के मालिक ने बंधक बना लिया है। दोनों को सउदी अरब के तारिख अब्दुल अजीज अलखलीज क्षेत्र के दम्माम शहर में बंधक बनाकर रखा गया है। इस बात का खुलासा पीड़ित द्वारा भेजे गए व्हाटसऐप वीडियो से हुआ है। इसमें पीड़ित ने खुद को बंधक बनाने की बात कही है और उसकी आवाज को पीएम व विदेशमंत्री तक पहुंचाने की गुहार लगाई है।
पीड़ित की पत्नी मुन्नी देवी ने बताया कि सात माह पूर्व उसके पति कुसुम लाल शाह ने आर्थिक तंगी से परेशान होकर सउदी अरब जाने का फैसला किया। उन्होंने इसके लिए कर्ज लिया और वीजा एवं पासपोर्ट के लिए आवेदन कर दिया। मुन्नी देवी ने बताया कि वीजा-पासपोर्ट बनते ही दोनों सउदी अरब के लिए निकल गए तथा शुरूआत के दो महीने बाद उन्होंने पैसा भेजना बंद कर दिया। इस बीच उनसे किसी प्रकार का संपर्क नहीं हो पाया। उन्होंने बताया कि कुछ दिन पहले अमित का दोस्त सुनटून सिंह घर आया और उन्हें अमित और उसके पिता के बंधक बनाए जाने की बात बताई। मुन्नी देवी को विश्वास नहीं हुआ तो सुनटून ने मुन्नी देवी को वीडियो दिखाया जिसमें उसने बंधक बनाए जाने की बात कही थी। इसके बाद उन्होंने क्षेत्र विधायक से मुलाकात कर आवेदन सौंपा और रिहाई की गुहार लगाई।

पीड़ित अमित कुमार का पासपोर्ट।

सुनटून को भेजे वीडियो में अमित ने कहा है कि उसे विगत पांच माह से सउदी में बंधक बनाकर रखा गया है। अमित ने वीडियो में बताया है कि तारिख अब्दुल अजीज अलखलीज क्षेत्र के दम्माम शहर में संचालित मीडिया सेंटर कंपनी के मालिक फातिमा अली अब्दुल्ला अलखतनी ने बंधक बनाकर रखा है। उसने बताया है कि कंपनी मालिक द्वारा उसका वीजा और पासपोर्ट भी छीन लिया गया है और उसे मेहनताना भी नहीं दिया जा रहा है।
वीडियो में अमित ने बताया कि उसने सउदी अरब स्थित भारतीय दूतावास में भी गुहार लगाई पर उसकी किसी ने नहीं सुनी। इसके बाद उसने वीडियो को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज तक पहुंचाने की बात कही है और उनसे रिहाई की गुहार लगाई है।
दो माह बाद ही कंपनी मालिक करने लगे प्रताड़ित जुलाई माह में बनमनखी अनुमंडल के मझुवा प्रेमचंद्र निवासी कुसुम लाल शाह (77) पुत्र अमित कुमार (30) के साथ नौकरी की तलाश में सउदी अरब गए थे। जहां उन्हें एक कंपनी में काम मिल गया था। लेकिन दो माह काम करने के बाद कंपनी मालिक ने दोनों को प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। इसका विरोध करने पर मालिक ने पहले तो उन्हें तनख्वाह देना बंद कर दिया। इसके बाद उनका पासपोर्ट और वीजा भी जब्त कर लिया। इसके बाद पीड़ित ने अपनी रिहाई को लेकर एक वीडियो बना कर सरसी चौक निवासी सुनटून सिंह को भेजा। पीड़ित की मां ने विधायक सहकला संस्कृति कला युवामंत्री कृष्ण कुमार से मुलाकात कर पति और बेटे को रिहा करने की गुहार लगाई है।
मामले की जानकारी जैसे ही दिल्ली प्रदेश साहू राठौर महासभा के प्रदेश अध्यक्ष व राष्ट्रीय प्रवक्ता एस राहुल को लगी तो उन्होंने तुरंत केंद्रीय मंत्रियों व अन्य को इसकी जानकारी दी। जिसके जबाव में राजदूत के द्वारा अमित शाह के परिवार का विवरण मांगा गया।
प्रदेश अध्यक्ष एस राहुल ने बताया कि दिल्ली प्रदेश साहू राठौर महासभा जल्द इस मामले में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मिलकर पीड़ित परिवार को मदद दिलाने का प्रयास करेगी।

LEAVE A REPLY